Virat Kohli Biography in Hindi || विराट कोहली INDIAN CAPTAIN सफलता की कहानी



Virat Kohli Biography in Hindi



हेलो दोस्तों! Hindi Insder पर आपका स्वागत है। में आज आपको “Virat Kohli Biography in Hindi || विराट कोहली INDIAN CAPTAIN सफलता की कहानी ” के बारे में बताऊंगा 


दोस्तों मुझे नहीं लगता की विराट कोहली का नाम इस क्रिकेट जगत में किसी परिचय का मोहताज है। जिस तरह से उन्होंने तेज गति से क्रिकेट में रन बनाए हैं, इतनी ही तेज गति से उन्होंने लोकप्रियता भी पाई है। क्रिकेट के विशेषज्ञ तो उन्हें भविष्य का सचिन तेंदुलकर मानते हैं। क्योंकि वह तेंदुलकर के भाती बहुत ही सूझबूझ के साथ बल्लेबाजी करते हैं। महेंद्र सिंह धोनी के सभी फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने के बाद विराट तीनों फॉर्मेट के कप्तान बन गए। दोस्तों हम आज इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी के सफलता  के बारे में जानेगे और इनसे कुछ चीजें सीखने की कोशिश करेंगे। 

विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को दिल्ली में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। उनके पिता प्रेम कोहली पेशे से वकील थे और मां सरोज हाउसवाइफ। वह अपने परिवार में सबसे छोटे हैं। उनका एक बड़ा भाई और एक बड़ी बहन भी है। विराट की मां कहती है की जब वह 3 साल के थे तभी से उन्होंने बल्ला पकड़ लिया था और अपने पापा को अपने साथ खेलने के लिए हमेशा परेशान किया करते थे। 


विराट कोहली की शिक्षा – Virat Kohli Education

कोहली दिल्ली की उत्तम नगर की गलियों में बड़े हुए और विशाल भारतीय पब्लिक स्कूल से शिक्षा ग्रहण की थी। उनके क्रिकेट के प्रति रुचि देखकर पड़ोसियों का कहना था की विराट कोहली को गली क्रिकेट में समय व्यर्थ नहीं करना चाहिए बल्कि उसे किसी अकैडमी में प्रोफेशनल क्रिकेट सीखना चाहिए। कोहली के पिता पड़ोसियों के कहने पर 9 वर्ष की उम्र में ही उन्हें दिल्ली क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन करा दी। 

दोस्तों अगर भारत में कोई क्रिकेट को करियर के तौर पर देखता है तो यह कया रोशन सबसे बड़ा रिस्की माना जाता है। क्योंकि भारत में हर 10 में से 8 या उससे भी ज्यादा लोग क्रिकेट देखने और खेलने के शौकीन है। लेकिन अगर विराट के पिता और उनके पड़ोसियों के जैसा कोई सपोर्ट करने वाला मिल जाए ना तो सब कुछ आसान हो जाता है। 




विराट को राजकुमार शर्मा ने ट्रेनिंग दी। खेल के साथ-साथ कोहली पढ़ाई में भी बहुत अच्छे थे। उनके शिक्षक उन्हें एक होनहार और बुद्धिमान बच्चा बताते हैं। विराट कोहली ने क्रिकेट की शुरुआत अक्टूबर 2002 में की थी। जब उन्हें पहली बार दिल्ली के अंडर 15 में शामिल किया गया था। उस समय विराट ने 2002-2003 की Polly Umrigar ट्रॉफी में पहली बार प्रोफेशनल क्रिकेट खेला था। 

वर्ष 2004 के अंत तक उन्हें अंडर-17 दिल्ली क्रिकेट टीम का सदस्य बनाया गया। तब उन्हें Vijay Merchant ट्रॉफी के लिए खेलना था। इन चार मैच की सीरीज में उन्होंने 450 से ज्यादा रन बनाए थे। सब कुछ सही चल रहा था लेकिन अचानक 18 दिसंबर 2006 में Brain Stroke की वजह से कुछ दिनों तक बीमार रहने के बाद उनके पिता की मृत्यु हो गई। जिनका का विराट के जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा था। वह आज भी इंटरव्यू में अपनी सफलता के पीछे अपने पिता का हाथ बताते हैं।

कोहली का कहना है कि वह समय मेरे और मेरे परिवार के लिए काफी मुश्किल था। आज भी वह समय याद करते हुए मेरी आंखें नम हो जाती है। बचपन से ही क्रिकेट प्रशिक्षण में उनके पिता ने उनकी बहुत सहायता की थी। मेरे पिता ही मेरे लिए सबसे बड़ा सहारा थे। पापा मेरे साथ रोज क्रिकेट खेला करते थे। आज भी कभी-कभी मुझे उनकी कमी महसूस होती  है। 

जुलाई 2006 में विराट कोहली को भारत की अंडर-19 टीम में चुन लिया गया। और उनका पहला विदेशी टूर इंग्लैंड था। इस इंग्लैंड टूर में उन्होंने तीन एकदिवसीय मैचों में 105 रन बनाए थे। 

मार्च 2008 में विराट कोहली को भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया। उनको मलेशिया में होने वाले अंडर-19 वर्ल्ड कप की कप्तानी करनी थी। इस वर्ल्ड कप में उन्होंने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था। 

कोहली को 2009 में इंडियन क्रिकेट टीम में श्रीलंका दौरे के लिए चुन लिया गया। इस टूर की शुरुआत में उन्हें इंडिया टीम-A ही तरफ से खेलने का अवसर मिला था। इसके बाद जब भारत के ओपनर सहवाग और तेंदुलकर दोनो घायल हो गए थे तब विराट को उनकी जगह पर पहली बार भारतीय टीम में खेलने का अवसर मिला। 

इस टूर में उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय अर्धशतक मारा था और इस सीरीज में भारत की जीत हुई थी। बस तभी से विराट ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। और बहुत ही तेज गति से अपनी खेल की बदौलत उन्होंने क्रिकेट में लोकप्रियता भी प्राप्त कर ली। और आज वह भारतीय क्रिकेट टीम के तीनों फॉर्मेट के कप्तान बन चुके हैं। 

विराट कहते हैं कि मैं सामने वाले को नहीं देखता कि वह कितना बड़ा खिलाड़ी है , मैं बस इतना सोचता कि मेरे पीछे करोड़ों फैंस का आशीर्वाद है। 


विराट कोहली को मिले हुए अवार्ड्स


Virat Kohli


  • 2012- पीपुल चॉइस अवॉर्ड फॉर फेवरेट क्रिकेटर
  • 2012- आाईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ द इयर अवॉर्ड
  • 2013- अर्जुन अवॉर्ड फॉर क्रिकेट
  • 2017- सीएनएन-आईबीएन इंडियन ऑफ द इयर
  • 2017- पदम श्री अवॉर्ड
  • 2018- सर गर्फिएल्ड सोबर्स ट्रॉफी से विराट को नवाजा गया।



विराट कोहली की शादी


virat kohli marriage pic



विराट कोहली की शादी 11 दिसंबर 2017 में एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा के साथ हुई थी



विराट कोहली के बारे में कुछ ऐसे सवाल जो लोग अक्सर जानना चाहते हैं।


1. Virat Kohli Age
Answer - 32 Years 

2. Virat Kohli Daughter Name
Answer - Vamika Kohli

3. Virat Kohli Cast 
Answer - Punjabi Khatari 

4. Virat Kohli Date of Birth 
Answer - 5 November 1988

5. Virat Kohli Education Qualification
Answer - 12th Standard


आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद 🙏🏻, इस आर्टिकल को शेयर करके आप हमारा मनोबल बढ़ा सकते हैं।मैं हर रोज एक नई आर्टिकल के साथ आता हूं।


मेरा नाम Hindi Insder है, मैं इसी तरह की अलग-अलग बायोग्राफी लिखता रहता हूं। अगर आपको "Virat Kohli Biography in Hindi || विराट कोहली INDIAN CAPTAIN सफलता की कहानी "  पसंद आया हो तो इस आर्टिकल को अपने फ्रेंड के साथ शेयर कर दो।


इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए धन्यवाद 🙏🏻😊|


Note - इस आर्टिकल में उपयोग किए हुए फोटोस गूगल में से लिए गए हैं।